Category: बच्चों की परवरिश

6 बेबी प्रोडक्टस जो हो सकते हैं नुकसानदेह आपके बच्चे के लिए

Published:19 Jun, 2017     By: ZN     1 min read


शिशु के जन्म के साथ ही कुछ चीज़ें हैं जिसका बखूबी ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि पेरेंट्स जाने-अनजाने में कुछ ऐसी गलतियाँ कर बैठते हैं जिसका ख़ामियाज़ा आपके छोटे से बच्चे को भुगतना पड़ता है। खासकर, उन पेरेंट्स को इन बातों का विशेष तौर पर ध्यान देने की जरूरत है, जो पहली बार माँ बन रही हों। 

निचे कुछ ऐसे बेबी प्रोडक्ट के बारे में बात की जा रही है जो न खरीदें तो बेहतर है, जिनमें निम्न शामिल हैं

वॉकर

अपने शिशु को वॉकर देना कितना सही और गलत है यह शायद आपको पता नहीं है। क्योंकि, कुछ पेरेंट्स मानते हैं कि वॉकर देने से बच्चे जल्दी चलना सीखते हैं और उनके पैरों की मांशपेशियां मजबूत होती हैं। लेकिन, एक शोध में यह बात सामने आई हैं कि वॉकर का इस्तेमाल करने वाले बच्चे पूरी तरह से सुरक्षित नहीं होते हैं, क्योंकि वह इसमें अपना बैलेंस सही से नहीं बिठा पाते हैं, जिससे कि उनका गिरने का खतरा हमेशा बना रहता है।

आप अपने बच्चे को शिक्षित करने के साथ ही साथ उसे गुरु का आदर करना भी सिखाएं

teachers-day

ये लिस्ट है कुछ लोकप्रिय अभिनेताओं का जिन्होंने अपने बच्चों के भविष्य के लिए बेहतर स्कूल तलाशा।

film-star-school

अब तक 300 बच्चे आत्महत्या कर चुके हैं इस गेम को खेल कर - अगला शिकार कहीं आप का बच्चा तो नहीं?

 

दूसरी ओर चाइल्ड सेफ्टी यूरोप के एक शोध के मुताबिक यह बातें सामने आई हैं कि बेबी वॉकर बच्चों में चलने की गति 1 मीटर प्रति सेकंड तक बढ़ा देती हैं। और दूसरा यह है कि बच्चा ज़मीन से ऊपर उठा हुआ रहता है जिससे उसे ये एहसास होने में समस्या होती है की वो चल भी रहा है या नहीं। दरअसल, यह बच्चे की चल पाने की क्षमता पर असल डालते हैं और उसे घायल करने की परिस्थिति में डाल देते हैं। इसलिए इसे खरीदने से बचें।

पेसिफायर

अक्सर आपने देखा होगा कि माँ अपने बच्चे को शांत कराने के लिए उनके हाँथ में पेसिफायर पकड़ा देती हैं, जो कि बिल्कुल गलत है। क्योंकि, इससे बच्चे तो शांत हो जाते हैं लकिन, इसका क्या नुकसान होता है शायद आपको पता नहीं। जो बच्चे पेसिफायर का प्रयोग करते हैं उनमें सबसे अधिक इंफेक्शन का खतरा रहता है, क्योंकि आप उसे बार-बार नहीं धुलते और साफ करते हैं। इतना ही नहीं, इससे दूध के दांतों की संरचना भी बिगड़ती हैं। इनसे बच्चे को उल्टी, पेटदर्द, दस्त और रेस्पिटेरटरी इंफेक्शन भी हो सकता है।
हालाँकि, चाहें तो इसके जगह आप अपने शिशु को गाजर, खीरा आदि को हांथ में पकड़ा सकती हैं। इससे दांत निकलते वक्त होने वाले दर्द से भी राहत मिल सकती है।

सिप्पी कप

अधिकतर पेरेंट्स अपने बच्चे को सिप्पी कप दो कारणों से देना पसंद करते हैं एक तो बच्चे आसानी से पानी पी लेते हैं और दूसरा की बच्चे पानी अपने मुंह से नहीं निकालते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि, यह बिल्कुल बोतल की तरह होता है। लेकिन, इसकी सबसे बड़ी समस्या यह है कि आप इसे बोतल की निप्पल की तरह साफ नहीं कर सकते हैं। शायद यही कारण है कि सिप्पी कप बच्चों में कैविटी का कारण बन सकता है, और बाद में यह दांत से संबंधित समस्या पैदा कर सकता है।

ऐसे में आप अपने बच्चे को शुरू से ही ग्लास में पीने की आदत डालें। भले ही शुरुआत में उसे पीने में समस्या हो, लेकिन बाद में वह खुद ब खुद सीख लेगा।

टॉकिंग टॉयज (बोलने वाले खिलौने)

हालाँकि, पेरेंट्स को लगता है कि संगीत सुनाने या बोलने वाले खिलौने बच्चों को जल्दी बोलने में मदद करते हैं, जो कि बिल्कुल गलत है। क्योंकि, यह आपके छोटे बच्चों में भाषा सीखने और समझने के नाजुक प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं। क्योंकि, एक शोध में यह बात सामने आई हैं कि अधिक बोलने और शोर मचाने वाले खिलौने जब चलते हैं तो माता पिता और बच्चे चुप रहते हैं और उन के बीच शब्दों का आदान प्रदान नहीं होता और बच्चे नए शब्द नहीं सीखते। इसलिए विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों को ऐसे खिलौने दिए जाएं जिनसे वे नए शब्द सीखें।

फीडिंग बोतल

जो माँ वर्किंग होती हैं वह अपने बेबी को बोतल से दूध पिलाती हैं। लेकिन, इससे दूध पीते वक्त बच्चे के पेट में हवा भर जाती है जिससे कि शिशु के पेट में दर्द हो सकता है। इतना है नहीं, बोतल से संक्रमण का खतरा रहता है। हालाँकि, अगर आप बोतल का प्रयोग करती हैं तो उसके साफ-सफाई का विशेष तौर पर ध्यान रखें ताकि उसे किसी तरह का कोई इंफेक्शन न होने पाए। साथ ही, 1 से 2 महीने में इसे बदल दें, और हमेशा अच्छी क्वालिटी की बोतल खरीदें।

फैंसी कपड़े

बच्चे को फैंसी कपड़े न पहनाएं, क्योंकि एेसे कपड़ों से बच्चे को चुभन हो सकती है। इतना ही नहीं, ज्यादा काम और वर्क वाले कपड़ों से शिशु को एलर्जी और रेशेस की समस्या हो सकती है। ऐसे में, बेहतर है कि आप बच्चे को कॉटन के कपड़े पहनाएं। 


यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी।



Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Recommended Articles

Sharing is caring

पारिवारिक-माहौल
बच्चों को सिखाएं गुरु का आदर करना [Teacher's Day Special]

आप अपने बच्चे को शिक्षित करने के साथ ही साथ उसे गुरु का आदर करना भी सिखाएं

teachers-day
टॉप स्कूल जहाँ पढते हैं फ़िल्मी सितारों के बच्चे

ये लिस्ट है कुछ लोकप्रिय अभिनेताओं का जिन्होंने अपने बच्चों के भविष्य के लिए बेहतर स्कूल तलाशा।

film-star-school
ब्लू व्हेल - बच्चों के मौत का खेल

अब तक 300 बच्चे आत्महत्या कर चुके हैं इस गेम को खेल कर - अगला शिकार कहीं आप का बच्चा तो नहीं?

ब्लू-व्हेल
भारत के पांच सबसे महंगे स्कूल

लेकिन भारत के ये प्रसिद्ध बोडिंग स्कूलो, भारत के सबसे महंगे स्कूलों में शामिल हैं| यहां पढ़ाना सबके बस की बात नहीं|

6-बेबी-प्रोडक्टस-जो-हो-सकते-हैं-नुकसानदेह-आपके-बच्चे-के-लिए
6 महीने से पहले बच्चे को पानी पिलाना है खतरनाक

शिशु में पानी की शुरुआत 6 महीने के बाद की जानी चाहिए।

6-महीने-से-पहले-बच्चे-को-पानी-पिलाना-है-खतरनाक
माँ का दूध छुड़ाने के बाद क्या दें बच्चे को आहार

बच्चों में माँ का दूध कैसे छुड़ाएं और उसके बाद उसे क्या आहार दें ?

बच्चे-को-आहार
छोटे बच्चों को मच्छरों से बचाने के 4 सुरक्षित तरीके

अगर घर में छोटे बच्चे हों तो मच्छरों से बचने के 4 सुरक्षित तरीके।

बच्चों-को-मच्छरों-से-बचाएं
किस उम्र से सिखाएं बच्चों को ब्रश करना

अच्छे दांतों के लिए डेढ़ साल की उम्र से ही अच्छी तरह ब्रशिंग की आदत डालें

बच्चों-को-ब्रश-कराना
बच्चों का लम्बाई बढ़ाने का आसान घरेलु उपाय

अपने बच्चे की शारीरिक लम्बाई को बढ़ाने के लिए इन बातों का ध्यान रखना होगा



बच्चों-का-लम्बाई
Sex Education - बच्चों को किस उम्र में क्या पता होना चाहिए!

बच्चों को सेक्स सम्बन्धी जानकारी क्योँ देना क्यों और कैसे जरुरी है?

Sex-Education
पारिवारिक परिवेश बच्चों के विकास को प्रभावित करता है

माँ-बाप के बीच मधुर सम्बन्ध शिशु के विकास में बहुत तरीके से योगदान करता है।

पारिवारिक-माहौल
बच्चे बुद्धिमान बनते हैं जब आप हर दिन उनसे बात करते हैं|

बच्चों के साथ बातचीत करने से उनपे बेहद अच्छा और सकारात्मक प्रभाव पड़ता है

बच्चे-बुद्धिमान
क्या आप का बच्चा बात करने में ज्यादा समय ले रहा है|

बच्चे के बोलने में आप किस तरह मदद कर सकते हैं?

बच्चा-बात
बच्चों को सिखाएं गुरु का आदर करना [Teacher's Day Special]

आप अपने बच्चे को शिक्षित करने के साथ ही साथ उसे गुरु का आदर करना भी सिखाएं

teachers-day
बच्चे को सुलाएं 60 सेकंड के अन्दर

आइये हम बात करते हैं की आप अपने बच्चे को कैसे झट से 60 second के अन्दर सुला सकती हैं।

बच्चे-को-सुलाएं
5 नुस्खे नवजात बच्चे के दिमागी विकास के लिए

बच्चे को छूने और उसे निहारने से उसके दिमाग के विकास को गति मिलती है|

नवजात-बच्चे-का-दिमागी-विकास
6 TIPS: बच्चे के लिए बेस्ट स्कूल इस तरह चुने

अगर आप अपने बच्चे के लिए best school की तलाश कर रहें हैं तो आप को इन छह बिन्दुओं का धयान रखना है|

best-school-2018
Easy Tips - बच्चों को बोर्ड एग्जैम की तैयारी करवाने के लिए

अगर आप इन बातों का ख्याल रखेंगे तो आप का बच्चा बोर्ड एग्जाम की बेहतर तयारी कर पायेगा|

board-exam
टॉप स्कूल जहाँ पढते हैं फ़िल्मी सितारों के बच्चे

ये लिस्ट है कुछ लोकप्रिय अभिनेताओं का जिन्होंने अपने बच्चों के भविष्य के लिए बेहतर स्कूल तलाशा।


How to Plan for Good Health Through Good Diet and Active Lifestyle

Be Active, Be Fit