Category: स्वस्थ शरीर

6 महीने के बच्चे (लड़की) का आदर्श वजन और लम्बाई

By: Salan Khalkho | 12 min read

6 महीने की लड़की का वजन 7.3 KG और उसकी लम्बाई 24.8 और 28.25 इंच होनी चाहिए। जबकि 6 महीने के शिशु (लड़के) का वजन 7.9 KG और उसकी लम्बाई 24 से 27.25 इंच के आस पास होनी चाहिए। शिशु के वजन और लम्बाई का अनुपात उसके माता पिता से मिले अनुवांशिकी और आहार से मिलने वाले पोषण पे निर्भर करता है।

height and weight of a one year old baby girl

6 महीने के शिशु का वजन

इस लेख में आप पढ़ेंगी:

  1. बेटी का वजन और उसकी लम्बाई
  2. 6 महीने की लड़की का औसत  वजन और लम्बाई
  3. WHO के अनुसार लड़कियों का growth chart
  4. WHO दुवारा निर्धारित चार्ट
  5. कुपोषण से बच्चों की लम्बाई और वजन कम हो सकता है
  6. बेटी के लम्बाई और वजन में पोषण की भूमिका
  7. लड़किओं और लड़कों का विकास दर
  8. WHO के growth cart को इस तरह समझें
  9. अपनी बच्ची का वजन देखते वक्त इन बातों का ख्याल रखें
  10. WHO के चार्ट को देखते वक्त इस बात का ध्यान रखें

माँ-बाप की सबसे बड़ी चिंता ये रहती है की उनके बेटी का वजन कहीं कम तो नहीं। 

माँ-बाप की चिंता और बढ़ जाती है जब वे अपने बेटी के उम्र के दुसरे बच्चों को अपने बच्चे से ज्यादा लम्बा और वजनी देखते हैं। 



For Readers: Diaper पे भारी छुट (Discount) का लाभ उठायें!
Know More>>
*Amazon पे हर दिन discount और offers बदलता है| जरुरी नहीं की यह DISCOUNT कल उपलब्ध रहे|


लेकिन

बहुत सी बातें निर्भर करती हैं।

बेटी का वजन और उसकी लम्बाई

बेटी का वजन और उसकी लम्बाई 

शिशु के वजन और लम्बाई का बढ़ना बहुत सी बातों पे निर्भर करता है। उनमें सबसे मुख्या है:

  • शिशु को माँ-बाप से मिली अनुवंशकी (genetics) 
  • शिशु का खान-पान और क्रियाशीलता 
  • शिशु के पहले कुछ साल का वजन और लम्बाई उसके जन्म के वजन पे भी निर्भर करता है 

इसका मतलब साफ़ है।

अगर माँ-बाप लम्बे हैं तो बच्चे भी अपने माँ-बाप की लम्बाई पकड़ेंगे। इसीलिए अपनी बेटी का दुसरे बच्चों के साथ तुलना न करें। 

6 महीने के लड़के का आदर्श वजन और लम्बाई क्या होना चाहिए? - यहाँ पढ़ें!

महीने की लड़की का औसत वजन और लम्बाई

6 महीने की लड़की का औसत  वजन और लम्बाई चार्ट (height weight chart)

जब आप की बेटी 6 महीने की होगी तब उसका औसत वजन 7.3 kg और उसकी लम्बाई 24.8 से लेकर 28.25 inch के आस पास होनी चाहिए। 

शिशु की उम्र महीनो में लड़का (KG)लड़की (KG)
नवजात शिशु 3.33.2
1 महिना 3.5-4.43.32-4.1
2 महिना 4.7-5.44.35-5
3 महिना 5.6-6.25.2-5.7
4 महिना 76.4
5 महिना 7.56.9
6 महिना 7.97.3
7 महिना 8.37.7
8 महिना 8.67.95
9 महिना 8.98.2
10 महिना 9.28.5
11 महिना 9.48.7
12 महिना 9.78.95

शिशु के उम्र के अनुसार लंबाई और वजन का चार्ट - Baby Growth Weight & Height Chart

WHO के अनुसार लड़कियों का growth chart

WHO weight chart for girls

WHO दुवारा निर्धारित चार्ट

निचे WHO दुवारा निर्धारित चार्ट को हमने इस लेख में दिए है। उसके आधार पे आप अपनी बेटी के विकास का उसके उम्र के अनुसार सही निष्कर्ष निकल सकती हैं। 

नवजात शिशु का Infant Growth Percentile Chart यहाँ calculate करें।

कुपोषण से बच्चों की लम्बाई और वजन कम हो सकता है

कुपोषण से बच्चों की लम्बाई और वजन कम हो सकता है 

जिन बच्चों को पोषण ठीक से नहीं मिलता है, उन बच्चों को कुपोषण हो सकता है और उन बच्चों की लम्बाई या वजन या दोनों को नुकसान पहुँच सकता है। उदहारण के लिए - अगर शिशु को आप केवल खिचड़ी खाने को दे रही हैं तो उसे केवल एक ही तरह का पोषण मिलगा और बच्चे में कुछ समय के बाद कुपोषण के लक्षण दिखने लगेंगे। इसीलिए बच्चे को तरह-तरह के आहार खाने को दें - ताकि बच्चे को सभी प्रकार के पोषण मिल सके। 

नवजात शिशु का BMI Calculate करने की विधि यहाँ पढ़ें।  

बेटी के लम्बाई और वजन में पोषण की भूमिका

बेटी के लम्बाई और वजन में पोषण की भूमिका 

बच्चे को आहार में मौसम के अनुसार सब्जियां और फल भी खाने को दें। 

बढ़ते हुए उम्र के साथ शिशु के शरीर का सामान्य दर से वजन बढ़ता है। अगर शिशु का वजन सामान्य दर से नहीं बढ़ रहा है तो यह वाकई चिंता का विषय है और माँ-बाप को अपने बच्चे को डॉक्टर को दिखलाना चाहिए। 

लड़किओं और लड़कों का विकास दर

लड़किओं और लड़कों का विकास दर

लड़किओं और लड़कों का विकास दर अलग अलग होता है। इसीलिए लड़किओं का विकास चार्ट लड़कों के विकास चार्ट से अलग होता है।

आप की बेटी जन्म से लेकर पांच साल तक की उम्र तक कई तरह के विकास अवस्था से गुजरेगी। उदहारण के लिए कुछ महीने ऐसे होंगे जब आप देखेंगी की आप के बच्ची का विकास बहुत तीव्र गति से हो रहा है और कुछ ऐसे समय ऐसा गुजरेगा जब आप को कोई विशेष विकास नहीं दिखेगा। 

1 साल के बच्चे (लड़के) का आदर्श वजन और लम्बाई - यहाँ पढ़ें। 

WHO के growth cart को इस तरह समझें

WHO के growth cart को इस तरह समझें 

  1. WHO दुवारा प्रस्तुत चार्ट में पहले दो columns शिशु के उम्र से सम्बंधित है। तीसरा columns बेटी के वजन का निचला रेंज है। इसका मतलब ये 3rd percentile है। भारत में 3% बच्चे इस रेंज (range) से निचे रहेंगे। 
  2. दूसरा column दर्शाता है 15th percentile, जिसका मतलब है की भारत में 15% बच्चे graph में इस रेंज से निचे रहेंगे। उदहारण के लिए मेरी बेटी जिसका वजन है 2.7 kg, वो ऊपर दिए चार्ट के अनुसार 15th percentile के भीतर है और 12 months में उसका औसत वजन हो जाना चाहिए 7.9 kgs। कोई मतलब नहीं है अपनी बेटी का तुलना उन बच्चों से करने में जो 50th या 85th percentile में हों। 
  3. तीसरा column, median का है। भारत में 50% बच्चे ग्रोथ चार्ट में इससे निचे पाए जाते हैं। 
  4. चौथा column 85th percentile का है - जिसका मतलब है की भारत में 85% बच्चे growth chart में इससे निचे पाए जाते हैं। या दूसरी भाषा में 15% बच्चे इससे उप्पर पाए जाते हैं। 
  5. पांचवा column है 97% percentile का। इसका मतलन केवल 3% बच्चे इस weight chart से ऊपर हैं। 

WHO growth chart for girl birth to 36 months

--------------- xxx -----------------

WHO growth chart for girl 2 to 20 years

यह जानना बहुत आवशयक है की यह सम्पूर्ण रेंज (range) ही सामान्य है। अब यह जानने के लिए की आप की बेटी का विकास ठीक तरीके से हो रहा है, डॉक्टर आप की बेटी का वजन - जन्म से लेकर अब तक किस दर से बढ़ा - इसका आकलन करेगा और उसके आधार पे ही इस निष्कर्ष पे पहुंचेगा की आप के बेटी का विकास सामान्य रूप से हो रहा है या नहीं। 

अगर आप की बेटी का विकास graph में दर्शाये गए curve के अनुसार बढ़ रहा है तो सब कुछ ठीक है। लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो आप की बेटी को चिकित्सीय सहायता की आवश्यकता पड़ेगी। 

भारत में एक आम धारणा है की वजनी बच्चे ज्यादा तंदरूस्त होते हैं और पतले बच्चे कमजोर। लेकिन जब आप ऊपर दिए WHO के अनुसार अपनी लड़की के विकास का मिलान करेंगी तो सही निष्कर्ष निकल पाएंगी। 

अपनी बच्ची का वजन देखते वक्त इन बातों का ख्याल रखें

अपनी बच्ची का वजन देखते वक्त इन बातों का ख्याल रखें

  1. अपनी बच्ची के विकास दर को उसकी उम्र के लड़कों से तुलना न करें।
  2. WHO दुवारा त्यार चार्ट में 3rd percentile से लेकर 97th percentile को शामिल किया गया है। 
  3. भारत में 94% प्रतिशत बच्चे, वजन और लम्बाई के हिसाब से इसी रेंज में पड़ते हैं। अगर आप की बेटी का वजन और लम्बाई इसी रेंज (range) के अंदर है तो इसका मतलब है की आप की बेटी का विकास सामान्य (ठीक) ढंग से हो रहा है। 
  4. एक ध्यान देने वाली बात यह भी है की अगर आप की बेटी का वजन जन्म के समय कम था तो उसका वजन (पहले कुछ साल) उसके उम्र के दुसरे बच्चों से कम रहेगा। बात सीधी सी है, बेटी का वजन अचानक से नहीं बढ़ जायेगा। लेकिन अपने समय पे कुछ सालों में आप के बेटी का वजन उसके हमउम्र दुसरे बच्चों के समतुल्य हो जायेगा। इसीलिए परेशान होने वाली बात नहीं है। बस अपनी बेटी को पौष्टिक आहार देती रहें। सबसे ज्यादा पोषण शिशु को सब्जियों और फलों से मिलता है।  चीनी में कोई पोषण नहीं होता है, केवल कैलोरी होती है, इसीलिए चीनी को empty calorie कहते हैं। 
  5. आप की बेटी का वजन उसके माँ-बाप से मिले अनुवांशिकी पे भी निर्भर करता है। 

WHO के चार्ट को देखते वक्त इस बात का ध्यान रखें

WHO के चार्ट स्कूल से मिलने वाले grade की तरह नहीं है - की जितना ज्यादा हो उतना अच्छा है। अगर आप की बेटी का वजन और लम्बाई WHO दुवारा त्यार चार्ट में 3rd percentile से लेकर 97th percentile में कहीं भी है, ते बेहतर है - वार्ना चिंता का विषय है। 

अगर आपकी बेटी का वजन और लम्बाई WHO दुवारा त्यार चार्ट में 3rd percentile से लेकर 97th percentile से ज्यादा या कम है तो यह चिंता का विषय है और आप को अपनी बेटी को डॉक्टर को दिखलाना चाहिए। 

Most Read

Other Articles

Footer