Category: स्वस्थ शरीर

जो बच्चे जल्दी चलना सीखते हैं बड़े होने पे उनकी हड्डियाँ ज्यादा मजबूत होती है|

By: Salan Khalkho | 1 min read

जब बच्चे इस तरह के खेल खेलते हैं तो उनके हड्डीयौं पे दबाव पड़ता है - जिसकी वजह से चौड़ी और घनिष्ट हो जाती हैं। इसका नतीजा यह होता है की इन बच्चों की हड्डियाँ दुसरे बच्चों के मुकाबले ज्यादा मजूब हो जाती है।

बच्चों की हड्डियाँ ज्यादा मजबूत करने के उपाय

बच्चे, विशेषकर लड़के, जो पहले चलना, दौड़ना और कूदना शुरू करते हैं, आगे चलकर व्यस्क होने पे उनकी हड्डियाँ ज्यादा मजबूत होती हैं। 

जब बच्चे इस तरह के खेल खेलते हैं तो उनके हड्डीयौं पे दबाव पड़ता है - जिसकी वजह से चौड़ी और घनिष्ट हो जाती हैं। इसका नतीजा यह होता है की इन बच्चों की हड्डियाँ दुसरे बच्चों के मुकाबले ज्यादा मजूब हो जाती है। 



For Readers: Diaper पे भारी छुट (Discount) का लाभ उठायें!
Know More>>
*Amazon पे हर दिन discount और offers बदलता है| जरुरी नहीं की यह DISCOUNT कल उपलब्ध रहे|


हाल में हुए शोध के परिणाम इस बात की ओर इशारा करते हैं की जो बच्चे ज्यादा खेल कूद नहीं करते हैं उन्हें आगे चलके osteoporosis और हड्डीयौं से सम्बंधित रोगों का सामना करना पड़ सकता है। 

यह शोध एक बहुत महत्वपूर्ण कड़ी प्रस्तुत करती है जिसके बारे में पहले नहीं पता था। बात यह है की शिशु बचपन में किस तरह अपने शारीर को क्रियाशील रखता है उसका सीधा असर 16 साल बाद उसके शारीर की हड्डीयौं पे पड़ सकता है। 

यह खबर उन माँ-बाप के लिए बहुत ही एहम है जो अपने बच्चों को स्मार्ट फ़ोन खेलने के लिए दे देते हैं। बच्चे दिन-रात उस पे गेम खेलते रहते हैं। 

ऐसे मैं क्या होगा इन बच्चों का जब वे बड़े होंगे। कम उम्र में स्मार्ट फ़ोन का इस्तेमाल बच्चे को शारीरिक और मासिक दोनों तरीके से खोखला कर देता है। क्या आप जानते हैं की स्मार्टफ़ोन के क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं बच्चों मैं? 

यह शोध हुआ है ब्रिटन के Manchester Metropolitan University में। 

जब बचपन में में शारीर बहुत ज्यादा क्रियाशील होता है तो बहुत मजबूत और वजनी मासपेशियाँ  बनती हैं। वजनी मासपेशियाँ बच्चे के हड्डीयौं पे चलते और दौड़ते वक्त ज्यादा दबाव बनती है। और इसका नतीजा यह होता है की बच्चों की हड्डियाँ ज्यादा मजबूत हो जाती हैं। 

Most Read

Other Articles

Footer