Category: बच्चों का पोषण

सूजी का हलवा है बेहतरीन हिंदुस्तानी baby food

By: Salan Khalkho | 3 min read

सूजी का हलवा protein का अच्छा स्रोत है और यह बच्चों की immune system को सुदृण करने में योगदान देता है। बनाने में यह बेहद आसान और पोषण (nutrition) के मामले में इसका कोई बराबरी नहीं।

छोटे बच्चों (infants) के लिए सूजी का हलवा एक बहुत ही आम रेसिपी है। बनाने में यह बेहद आसान और पोषण (nutrition) के मामले में इसका कोई बराबरी नहीं। सूजी का हलवा पुरे भारत में बड़े शौक से बनाया और खाया जाता है। इस में कोई शक नहीं की आप की माँ ने भी आप के लिए school के टिफ़िन/lunch box के लिए सूजी का हलवा बनाया होगा।  

सूजी का हलवा protein का अच्छा स्रोत है और यह बच्चों की immune system को सुदृण करने में योगदान देता है। 

चूँकि बच्चों के आहार में जहाँ तक हो सके अलग से चीनी और नमक कम देना चाहिए या हो सके तो नहीं देना चाहिए। इसीलिए इस recipe में आप चाहें तो 6 month to 12 month old baby के लिए baby food बनाते वक्त सूजी का हलवा को पानी और गुड़ की मदद से बना सकते हैं। 

चीनी में empty calorie होती है इसीलिए छोटे बच्चों (infants) के baby food में अत्यधिक चीनी होने से वे कुपोषण (malnutrition) के शिकार हो सकते हैं। चीनी में पोषक तत्त्व (nutrients) नहीं होता इसीलिए इसे empty calorie कहते हैं। गुड़ में पोषक तत्त्व तो होते ही हैं, साथ ही यह iron का अच्छा स्रोत (good source of iron) भी है।  

शिशु के लिए सूजी की आसान रेसिपी (Suji Baby Food recipes in Hindi)। 

 

सूजी का हलवा है for Indian baby food recipe

If you are thinking how to prepare सूजी का हलुआ छोटे बच्चो के लिए (SUJI KA HALWA FOR INFANTS)  सूजी का हलवा, तो यह लेख आप के लिए ही है 

सामग्री - Ingredients

  • 4 teaspoon सूजी (semolina)
  • 2 cups दूध 
  • 5 piece cashew nuts (optional - use only if your baby can chew and sallow it. Not recommended for babies between 6 month and 12 month)
  • चुटकी भर इलायची पाउडर ( cardamom powder)
  • 2-3 teaspoon शुद्ध देशी घी
  • गुड़ स्वाद अनुसार 

सूजी का हलुआ बनाने की विधि

  1. अगर आपका बच्चा इतना बड़ा है की काजू को बिना गले में अटकाए खा सकता है तो काजू को छोटे-छोटे टुकड़े में काट लें। 
  2. एक कड़ाई में थोड़ा पानी लें और धीमी आंच पे गरम होने के लिए रख दें। इसमें गुड़ डाल दें और लकड़ी के चमच से चलते रहें जब तक की गुड़ का syrup ना त्यार हो जाये। एक मिनट तक खौला के बंद कर दें। 
  3. एक अलग कड़ाई में शुद्ध देशी घी गरम करें। इसमें काजू डाल कर हल्का सा रोस्ट (roast) करके एक कटोरे में निकल लें। 
  4. अब सूजी को इसी कड़ाई में डालें और तब तक भुने जब तक की ये हल्का लाल रंग का ना हो जाये। सूजी को लगातार चलते रहें नहीं तो वो जल जाएगी। 
  5. सूजी का रंग बदलते ही उसमें दूध डाल दें। दूध डालते ही बेहद गरम पानी का भाप उठता है। दूध डालते वक्त कड़ाई से दुरी बनाये रखें नहीं तो आप जल सकते हैं। 
  6. सूजी में दूध डालने के बाद लकड़ी के चमच से चलते रहें जब तक की आप की इक्छा के अनुसार घाड़ापन ना हो जाये। 
  7. अंत में इसमें गुड़ का syrup डाल दें और अच्छे से मिला दें। गैस बंद कर दें और ठंडा होने के लिए छोड़ दें। 
  8. ठंडा होने पे चम्मच की मदद से धीरे-धीरे बचे को खिलाएं। 

Comments and Questions

You may ask your questions here. We will make best effort to provide most accurate answer. Rather than replying to individual questions, we will update the article to include your answer. When we do so, we will update you through email.

Unfortunately, due to the volume of comments received we cannot guarantee that we will be able to give you a timely response. When posting a question, please be very clear and concise. We thank you for your understanding!



प्रातिक्रिया दे (Leave your comment)

आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं

टिप्पणी (Comments)



आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा|



Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_120.txt
Footer