Category: स्वस्थ शरीर

नवजात शिशु के कपड़े धोते वक्त भी बरतनी चाहिए ये सावधानियां

By: Salan Khalkho | 4 min read

शिशु के कपडे को धोते वक्त कुछ बातों का ख्याल रखें ताकि कीटाणुओं और रोगाणुओं को बच्चों के कपडे से पूरी तरह ख़त्म किया जा सके और बच्चों के कपडे भी सुरक्षित रहें| शिशु के खिलौनों को भी समय-समय पे धोते रहें ताकि संक्रमण का खतरा ख़त्म हो सके|

how to wash baby cloth इन हिंदी - अच्छों के कपडे कैसे धोएं

शिशु के कपडे धोना और उन्हें साफ सुथरा रखना हर माँ के लिए जरुरी है क्यूंकि इससे बच्चों का स्वस्थ ठीक रहता है। बच्चों के कपडे धोने से उनमें लगे कीटाणु और बैक्टीरिया (जीवाणु) नष्ट हो जाते हैं। जहाँ तक हो सके कपड़ों को गरम पानी में धोएं और छाऊँ की जगह धुप में सुखाएं। 

बच्चों का शरीर बड़ों के मुकाबले संक्रमण से लड़ने में उतना सक्षम नहीं होता। इसीलिए बहुत ध्यान देने की आवश्यकता है की बच्चे संक्रमण और गन्दगी से बचे रहें। सिर्फ शिशु का ख्याल रखना की वो गन्दगी में न खेले - काफी नहीं है। जरुरत है इस बात पे भी ध्यान देनेकी की बच्चा जिन- जिन वस्तुओं से खेल रहा है वि भी साफ हों और हर प्रकार के इन्फेक्शन से दूर हों। 



For Readers: Diaper पे भारी छुट (Discount) का लाभ उठायें!
Know More>>
*Amazon पे हर दिन discount और offers बदलता है| जरुरी नहीं की यह DISCOUNT कल उपलब्ध रहे|


kids put toys in mouth infection in hindi

बच्चों जिन खिलौनों और वस्तुओं से खेलते हैं उनसे ही बच्चों को बहुत जल्द इन्फेक्शन लगने का खतरा रहता है। बच्चे अक्सर खेलते वक्त खिलौनों और दूसरी वस्तुओं को उठाकर मुँह में डाल लेते हैं। इसीलिए बच्चों के सिर्फ कपडे ही नहीं - बल्कि उनके खिलौनों को भी समय-समय पे धोते रहें ताकि संक्रमण का खतरा ख़त्म हो सके।

शिशु के कपडे को धोते वक्त कुछ बातों का ख्याल रखें ताकि कीटाणुओं और रोगाणुओं को बच्चों के कपडे सा पूरी तरह ख़त्म किया जा सके और बच्चों के कपडे भी सुरक्षित रहें। 

 

बच्चों के कपडे धोते वक्त रखें इन बातों का ख्याल

  1. सही डिटर्जेंट का चुनाव
  2. कपडे को डिटर्जेंट में भीगने दें
  3. शिशु के कपड़ों को अलग धोएं
  4. बच्चों के कपड़ों को रोज धोएं
  5. कपड़ों को धुप और हवादार जगह पे सुखाएं

सही डिटर्जेंट का चुनाव

बच्चों के कपड़ों को regular detergent से ही धोएं क्योँकि इसे बच्चों के कपड़ों की गन्दगी अच्छी तरह साफ होती है और उनमें लगे कीटाणु और जीवाणु भी नष्ट होते हैं। बच्चों के कपडे धोने के लिए मार्किट में जो विशेष डिटर्जेंट मिलते हैं उनसे बच्चों के कपड़ों की life तो बाद जाएगी मगर कीटाणुओं और रोगाणुओं पूरी तरह समाप्त नहीं होंगे। गन्दगी भी पूरी तरह नहीं निकलेगी। 

how to choose right baby detergent शिशु बच्चे कपडे धोने का तरीका in hindi

आप अपने बच्चे के कपडे को धोने के लिए कोई भी regular, strong detergent का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप यहां तक की कोई भी  कंडीशनिंग केमिकल वाले और तीव्र खुशबू वाले डिटर्जेंट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे कपडे पूरी तरह साफ हो जाएंगे और तेज़ धुप में सूखने के बाद उनका तीव्र खुशबू भी ख़त्म हो जायेगा। 

Related article:

कपडे को डिटर्जेंट में भीगने दें

कपडे को धुलने से पहले थोड़ी देर के लिए डिटर्जेंट में भीगने दें। थोड़ी देर भीगने से कपडे की गन्दगी नरम पद जाएगी और  कीटाणु और रोगाणु नष्ट हो जायेंगे। थोड़ी देर छोड़ने के बाद शिशु के कपडे को गरम पानी में अच्छी तरह धूल दें। इस तरह बच्चे के कपडे से गन्दगी पूरी तरह निकल जाएगी और संक्रमण नष्ट हो जाएगा। 

कपडे को डिटर्जेंट में भीगने दें soak baby cloth in detergent water in hindi

शिशु के कपड़ों को अलग धोएं

बच्चों के कपड़ों को घर के बाकि कपड़ों के साथ न धोएं। उन्हें अलग से धोएं। बच्चों के कपड़ों को अलग से धोने से उनमें बाकि कपड़ों से किटाणु या बैक्टीरिया आने का खतरा नहीं रहता है। 

शिशु के कपड़ों को अलग धोएं - wash baby cloth seperately in hindi

Related Article:

बच्चों के कपड़ों को रोज धोएं

अगर आप अपने बच्चों को स्वस्थ देखना चाहते हैं तो उनके कपड़ों को रोज धोएं। बच्चों के कपड़ों को आप वाशिंग मशीन में धो सकते हैं मगर कोशिश करें की उन्हें खुद ही हातों से धोएं ताकि कपडे अच्छी तरह धूल सकें और साफ हो सकें। 

wash baby cloth everyday in hindi - बच्चों के कपड़ों को रोज धोएं

Related Article:

कपड़ों को धुप और हवादार जगह पे सुखाएं

कपड़ों को ऐसी जगह पे सुखाएं  जहाँ पर्याप्त खुली हवा और धुप मिल सके। कपड़ों को सूरज के प्रकिर्तिक रौशनी में सूखने से उनमें मौजूद संक्रमण नष्ट जो जाते हैं। सूरज की रौशनी एक प्राकृतिक disinfectant होता है। 

dry baby cloths in sun बच्चों के कपडे धुप में सुखाएं in hindi

Most Read

Other Articles

Footer