Category: शिशु रोग

घर पे बनाये Vapor rub (वेपर रब) - Khasi Ki Dawai

By: Salan Khalkho | 6 min read

जानिए घर पे वेपर रब (Vapor rub) बनाने की विधि। जब बच्चे को बहुत बुरी खांसी हो तो भी Vapor rub (वेपर रब) तुरंत आराम पहुंचता है। बच्चों का शरीर मौसम की आवशकता के अनुसार अपना तापमान बढ़ने और घटने में सक्षम नहीं होता है। यही कारण है की कहे आप लाख जतन कर लें पर बच्चे सार्ड मौसम में बीमार पड़ ही जाते हैं।

घर पे बनाये Vapor rub (वेपर रब) how to make vapo rub at home DIY

शिशु के इस्तेमाल के लिए घर पे वेपर रब (Vapor rub) को बनाना बहुत ही आसन है। साथ ही इसे बनाने में जिन समग्रियौं का इस्तेमाल किया गया है, वे बच्चे के शारीर पे बेहद कोमल मगर सर्दी जुकाम में आराम दिलाने में बहुत प्रभावी हैं। 

आप चाहे कितना भी जतन कर लें, मगर सर्दी के मौसम में बच्चे कम से कम एक बार तो बीमार पड़ते ही हैं। एक बार जब बच्चों को सर्दी जुकाम या खांसी हो गया तो उन्हें ठीक करने के लिए बहुत से उपचार हैं। 

उनमें से एक है उपाय है बच्चे की छाती पे Vapor rub (वेपर रब) का मालिश किया जाये। इससे बच्चे को जुकाम में बहुत रहत मिलता है और बच्चा सुकून की नींद सो पता है। Vapor rub (वेपर रब) खांसी में भी आराम पहुंचता है। 

बच्चों की सर्दी, खांसी और जुकाम

बच्चों की सर्दी, खांसी और जुकाम को दूर करने के लिए Vapor rub (वेपर रब) का इस्तेमाल भारतवर्ष में सदियोँ से किया जा रहा है। 

इसपे देश और विदेशों में अनेक शोध हो चुके हैं और एक बात तो इन सब शोध में प्रमाणित हो चुकी है की जब बच्चे को बहुत बुरी खांसी हो तो भी Vapor rub (वेपर रब) तुरंत आराम पहुंचता है। 

मौसम जब बदलता है और ठण्ड बढ़ने लगती है तो इन मौसमी बदलावों से सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित होते हैं। 

बच्चों की सर्दी, खांसी और जुकाम को दूर करे वेपर रब vapor rub shooths cold and cough in children

बच्चों के शरीर में और बड़ों के शरीर में एक मूलभूत अंतर होता है। 

वो यह है की

बच्चों का शरीर बड़ों की तरह तापमान नियंत्रित करने में सक्षम नहीं होता है। बच्चों के शरीर को मौसमी बदलावों को समझने के लिए कई मौसम लगेंगे। 

इसीलिए अक्सर शिशु रोग विशेषज्ञ इस बात पर जोर देते हैं की बच्चों को बड़ों की तुलना मैं एक लयर कपडे अधिक पहनने की आवशकता है। ठण्ड ज्यादा बढ़ जाये तो इस बात की राय दी जाती है की माँ बच्चे को गोद में ले ले ताकि बच्चे को माँ के शरीर की गर्मी मिल सके। 

ठण्ड में बच्चे बीमार क्योँ पड़ते हैं? 

बच्चों का शरीर मौसम की आवशकता के अनुसार अपना तापमान बढ़ने और घटने में सक्षम नहीं होता है। यही कारण है की कहे आप लाख जतन कर लें पर बच्चे सार्ड मौसम में बीमार पड़ ही जाते हैं। 

बच्चों का बीमार पड़ना यानी पुरे घर के लिए परेशानी का सबब। 

ऐसे मैं Vapor rub (वेपर रब) हजारों सालों से आजमाया हुआ उपाय है बच्चीं की सर्दी और जुखाम को ठीक करने का। आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे, खांसी की अचूक दवा है Vapor rub (वेपर रब)।

वेपर रब (Vapor rub) के नुकसान 

वेपर रब (Vapor rub) सबसे ज्यादा उपयोगी है जुखाम के कारण बच्चों के बंद नाक को खोलने में। 

लेकिन 

क्या आप को पता है

की बाजार में उपलब्ध वेपर रब (Vapor rub) आप के शिशु की नाजुक त्वचा को नुकसान भी पहुँचा सकता है।

जी हाँ!

दवा की दूकान में आसानी से मिल जाने वाला वेपर रब (Vapor rub) बड़ों के जुखाम और उनकी त्वचा को ध्यान में रख कर बनाया गया है। वेपर रब (Vapor rub) बड़ों के जुखाम को ठीक करने के लिए सर्दी जुकाम की दवा बेहतरीन दवा है - लेकिन बच्चों के लिए नहीं।

side effects of commercial Vicks-Vapor-Rub वेपर रब के नुकसान साइड इफेक्ट्स शिशु में

यह ना तो बच्चों की नाजुक त्वचा को ध्यान में रख कर बनाया गया है और ना ही इस बात के लिए प्रमाणित किया गया है की बच्चों पे इसका क्या असर पड़ेगा। इसपर अधिकांश शोध बड़ों को ध्यान में रख कर किये गए हैं।

इसका मतलब यह नहीं है की आप अपने बच्चे को वेपर रब (Vapor rub) लगा नहीं सकती हैं। 

आप जरूर लगा सकती हैं - मगर - घर का बना वेपर रब (Vapor rub)।

घर पे वेपर रब (Vapor rub) बनाने की विधि जो हम आप को बताने जा रहे हैं उसमे ना ही हानिकारक रसायनो का इस्तेमाल किया गया है और ना ही कोई paraben जो आप के बच्चे की त्वचा को नुक्सान पहुंचा सकती है। 

हाँ एक बात जरूर ही - इस्तेमाल करने मैं घर का बना वेपर रब (Vapor rub) उतना ही कारगर है जितना की दवा की दुकान में मिलने वाला commercial वेपर रब (Vapor rub)। और साथ ही साथ आप की शिशु की त्वचा के लिए बिलकुल हानि रहित - क्योँकि यह केवल एक बच्चे की त्वचा की ध्यान में रख कर ही बनाया गया है। 

सामग्री (Ingredients)

  • 1/2 cup शुद्ध देशी घी
  • 10 लहसुन कलियाँ
  • युकलिप्टुस(नीलगिरी) इसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदें

वेपर रब (Vapor rub) को घर पे त्यार करने की विधि

  1. एक कढ़ाई में आधा कप घी ले लें। इसे माध्यम तेज़ आंच पे गरम करें। 
  2. अब इसमें लहसुन की कलियाँ डाल दें और तबतक भुने जब तक की लहसुन पूरी तरह से जल न जाये।
  3. अब लहसुन को चमच की सहायता से बहार निकल लें और घी को ठंडा होने के लिए छोड़ दें। 
  4. जब घी पूरी तरह से ठंडा हो जाये तो इसमें युकलिप्टुस(नीलगिरी) इसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदें डाल दें। 
  5. सारी सामग्री को एक छोटे से डब्बे में निकल लें और डिब्बे का ढक्कन बंद कर के अलग रख लें। 

इस तरह से त्यार वेपर रब (Vapor rub) का मुख्या पदार्थ घी है इसलिए यह जमकर साधारण रब की तरह ही बन जायेगा। 

घर पे त्यार इस वेपर रब (Vapor rub) का मुख्या फायदा यह है की ये शिशु की त्वचा पे बहुत ही कोमल है और दूसरा यह की इस वेपर रब (Vapor rub) में मौजूद घी बच्चे की त्वचा को नरम-मुलायम बनाएगी। 

लहसुन में एलिसिन (allicin) नामक तत्व होता है जो खांसी और सर्दी से आराम दिलाने में बहुत कारगर है। लहसुन एंटी-बैक्टेरियल भी होता है। इस वजह से यह संक्रमण को ख़त्म करने में भी मददगार है। 

इस वेपर रब (Vapor rub) में युकलिप्टुस(नीलगिरी) इसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदो का इस्तेमाल किया गया है। यह इसेंशियल ऑयल (essential oil) शिशु की बंद नाक खोलने में सहायता करता है।  

बड़े ही सरलता से घर पे बन जाने वाला यह वेपर रब (Vapor rub) / बाम सर्दी-खांसी का एक बेहतरीन घरेलू नुस्खा है।

अब जब हमने घर पे ही वेपर रब (Vapor rub) को बनाने की विधि के बारे में चर्चा कर ली है तो क्योँ न इसके सभी फायदे के बारे में बिना चर्चा कर लें। बिना इसके एक लेख अधूरा रहेगा। 

वेपर रब (Vapor rub) के फायदे - Benefits Of Vapor rub

सर्दियों का मौसम आया नहीं की हर घर में आप को वेपर रब (Vapor rub) देखने को मिल जायेगा। यह इस बात का प्रमाण है की यह कितना कारगर है और लोग इसपे कितना विश्वाश करते हैं। 

लेकिन वेपर रब (Vapor rub) केवल सर्दी, जुकाम और बंद नाक में ही कारगर नहीं है, बल्कि इसके और भी बहुत से उपयोग हैं। कुछ उपयोग तो ऐसे हैं की जिन्हे जानकर आप हैरान रह जायेगे। 

  1. सर्दियों के मौसम में मच्छर बहुत परेशान करते हैं। यह उत्तम समय होता है इनके पनपने का। यही वजह है की इनकी संख्या बहुत तेज़ी से फैलती है और ये खूब फलते फूलते हैं। जाहिर सी बात है की ठण्ड के दिनों में मच्छर लोगों को परेशान भी बहुत करते हैं। आपको शायद यह जानकर ताजूब लगे की वेपर रब (Vapor rub) के इस्तेमाल से आप मच्छरों को अपने दूर भी रख सकते हैं। आप को बस थोड़ा सा वेपर रब (Vapor rub) अपनी त्वचा पे और थोड़ा सा अपने कपड़ों पे लगाना है। 
  2. वेपर रब (Vapor rub) भगाए मच्छरों को
  3. वेपर रब (Vapor rub) की डिबिया को अगर आप दिन में खोल के रख दें तो मखियाँ आस पास नहीं भटकेंगी। 
  4. अगर आप की त्वचा पे चोट या खरोंच लग जाये तो वेपर रब (Vapor rub) आप के लिए बड़े काम का चीज़ साबित हो सकता है। थोड़े से वेपर रब (Vapor rub) में थोड़ा सा नमक मिला के चोट वाली जगह पे लगाने से चोट का रंग नही बिगड़ता है और आप की त्वचा उतनी बुरी नहीं लगती है। 
  5. ठण्ड के दिनों में अक्सर लोग पुरे समय जूते मोज़े पहने रहते हैं। इस वजह से कई बार पैरों की उंगलियों में में फंगस का संक्रमण हो जाता है। अगर आप के पैरों की उंगलियों में फंगस हो जाये तो उस जगह पे वेपर रब (Vapor rub) मलने से आराम मिलता है और फंगस का संक्रमण भी ख़तम होता है। 
  6. सर्दी के मौसम में पैरों की एड़ियों का फटना भी आम बात है। हालाँकि हर किसी को इस समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। मगर अगर आप उन लोगों में से हैं जिनके पैरों की adiyan ठण्ड में फटने लगती हैं तो अगर आप एड़ियों में वेपर रब (Vapor rub) लगाएं तो बहुत आराम मिलेगा। सर्द मौसम में वेपर रब (Vapor rub) हाथों के लिए मॉइस्‍चराइजर का काम भी करता है। 
  7. वेपर रब (Vapor rub) के फायदे - Benefits Of Vapor rub
  8. अगर आप को रंगमंच का शौक है - तो आप के लिए एक खुशखबरी है। अगर आप को कभी रोने का किरदार करना पड़े तो वेपर रब (Vapor rub) इसमें आप की मदद कर सकता है। बस करना इतना है की आप को अपनी आखों की निचे त्वचा पे थोड़ा सा वेपर रब (Vapor rub) लगा देना है। आप की आखों से ऐसे भर-भर पानी आएगा की आप को देखने वाले सभी तालियां बजने लगेंगे और आप की कला के कायल हो जायेंगे। ध्यान रहे की वेपर रब (Vapor rub) आप की आखों के अंदर भूल से भी न लगे। 
Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Kidhealthcenter.com is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for us to earn fees by linking to Amazon.com and affiliated sites.
3
Footer