Category: बच्चों की परवरिश

बच्चों की पढाई के लिए बनायें उपयुक्त माहौल - 12 Tips

By: Vandana Srivastava | 2 min read

शांतिपूर्ण माहौल में ही बच्चा कुछ सोच - समझ सकता है, पढ़ाई कर सकता है, अधयाय को याद कर सकता है। और अपने school में perform कर सकता है। माता-पिता होने के नाते आपको ही देना है अपने बच्चे को यह माहौल।

बच्चों की पढाई के लिए बनायें उपयुक्त माहौल

बच्चे भारत का भविष्य हैं। भविष्य सुरक्षित करने के लिए हमे अपने बच्चों के नियमित दिनचर्या का ध्यान देना होगा , उनकी दिनचर्या में पढ़ाई के लिए उनका स्थान तथा समय निश्चित करना होगा। 

पढ़ाई करने से ही बच्चा शिक्षित बनेगा और समाज में अपनी पहचान बनाएगा। बच्चे को पढ़ाई करने के लिए सही माहौल और उचित मार्गदर्शन की आवश्यकता होती हैं , जो एक माता- पिता ही अपने बच्चे को दे सकते हैं। बच्चे के जन्म और पालन - पोषण से अधिक उनकी शिक्षा - दीक्षा महत्वपूर्ण है। 



For Readers: Diaper पे भारी छुट (Discount) का लाभ उठायें!
Know More>>
*Amazon पे हर दिन discount और offers बदलता है| जरुरी नहीं की यह DISCOUNT कल उपलब्ध रहे|


अब सवाल उठता हैं कि अपने बच्चे को किस तरह का माहौल दे कि उसकी पढ़ाई सुचारु रूप से चल सकें

जैसे-जैसे आपका बच्चा बड़ा होता है , लिखना पढ़ना शुरू करता है वैसे -वैसे आप को अपने परिवार का परिवेश शांतिपूर्ण बनाना होगा।  जिससे आप का बच्चा ठीक ढंग से अपने पढ़ाई कर सकें। शांतिपूर्ण माहौल में ही बच्चा कुछ सोच - समझ सकता है, पढ़ाई कर सकता है, अधयाय को याद कर सकता है। और अपने school में perform कर सकता है। जैसे - जैसे आपका बच्चा बड़ा होता जाता हैं , उसे उचित माहौल की आवश्यकता होती हैं जिसमें वह मन लगाकर पढ़ सके। यह माहौल एक माता -पिता होने के नाते आपको ही देना है। 

बच्चे को पढ़ाई के लिए ट्यूशन

कुछ जरूरी बातें हैं , जिनपर आपको ध्यान देना होगा:

  1. घर के सदस्यों का आपस में सहयोगात्मक रूख होना चाहिए जिससे बच्चे को अच्छा माहौल मिले।
  2. परिवार के सदस्यों को आपस में वाद -विवाद नहीं करना चाहिए , खासकर माता-पिता को क्योकिं इसका असर बच्चे पर बहुत ख़राब पड़ता हैं।
  3. परिवार के सदस्यों को बहुत अधिक व्यस्त नहीं होना चाहिए जिससे वह अपने बच्चे को समय ही न दे सकें। आज के अधिकतर माता - पिता नौकरी पेशा होती हैं ,जो अपने बच्चे को भरपूर समय नहीं दे पाते हैं , जिसका असर बच्चे पर ठीक नहीं पड़ता हैं।
  4. कुछ माता - पिता बच्चे को बचपन से ही ट्यूशन पढ़वाने लगते हैं , जिससे बच्चे का लगाव माता - पिता के प्रति कम होने लगता हैं हो सकें तो अपने बच्चे को खुद से ही पढ़ाने बैठे।
  5. अपने बच्चे को सही मार्गदर्शन दें , जिससे बच्चा यह समझ सकें कि किस समय उसे क्या करना हैं। अपने बच्चे को सही टाईम- टेबल बना कर उसे पढने के लिए प्रेरित करे, जिससे पढने का माहौल बनेगा।
  6. अपने बच्चे के अंदर पढने की रूचि पैदा करे , जिससे वह खुद पढने के लिए तैयार हो।
  7. आप अपने बच्चे के अंदर कुर्सी - मेज़ पर बैठकर पढ़ने की आदत डाले, जिससे पढ़ाई का माहौल बनेगा।
  8. रौशनी की अच्छी व्यवस्था करें, जिससे आपका बच्चा आसानी से पढ़ सके। 
  9. अपने बच्चे के अंदर यह आदत डाले की स्कूल से आने के तुरंत बाद यह खाना खाये और उसके बाद होमवर्क करने बैठ जाया करें। 
  10. किसी मेहमान के आने पर भी वह अपने समय पर पढ़ाई करने बैठ जाएं। घर मेँ हर समय टी.वी. चलने से भी पढ़ाई का माहौल ख़राब होता है।
  11. अपने बच्चे को मोबाईल से दूर रखे ,क्योकि एक बार इसकी आदत पड़ जाने पर पढ़ाई में मन लगना मुश्किल हो जाता है।
  12. अपने बच्चे की पढ़ने की चीजे व्यवस्थित और रुचिकर तरीके से रखे। जैसे मेज पर किताब -कॉपी ,पेन- पेंसिल इत्यादि। इस तरह रखे की बच्चे का पढ़ने का मन करने लगे।

आप अपने बच्चे के पढ़ने के लिए उपर्युक्त बातों का ध्यान रखते हुए घर के माहोल को अच्छा बना सकते है , जिससे आपका बच्चा पढ़ने में मन लगाए।  


Most Read

Other Articles

Footer