Category: शिशु रोग

बच्चों को गर्मी से बचाने के उपाय

By: Vandana Srivastava | 5 min read

सबसे ज्यादा बच्चे गर्मियों के मौसम में बीमार पड़ते हैं और जल्दी ठीक भी नहीं होते| गर्मी लगने से जहां एक और कमजोरी बढ़ जाती है वहीं दूसरी और बीमार होने का खतरा भी उतना ही अधिक बढ़ जाता है। बच्चों को हम खेलने से तो नहीं रोक सकते हैं पर हम कुछ सावधानियां अपनाकर उनको गर्मी से होने वाली बीमारियों से जरूर बचा सकते हैं |

बच्चे को गर्मी से बचाने के तरीके

जाड़े की सर्द रातें और दिन की कुनकुनी धूप के जाते ही गर्मी का एहसास होने लगता है। मार्च का महीना आते ही गर्म कपड़े हटा कर पंखें , कूलर और ए सी चलने लगते हैं।सूर्य देवता के तीखे तेवर देख कर अब घर से बाहर निकलना कठिन हो जाता है खास कर बच्चों के लिए। आपको अपने बच्चे को गर्मी से बचाने के लिए उसके बाहरी त्वचा का और उसके खान-पान का ध्यान रखना होता है।

इस लेख में आप सीखेंगे - You will read in this article

  1. बच्चों की धूप से कैसे रक्षा करें
  2. बच्चे को ठण्ड में रखे
  3. बच्चों को हाइड्रेट रखने के तरीके
  4. खानपान का रखें ध्यान
  5. गर्मियों में यह सावधानी बरतें
  6. घमौरियों और सनबर्न से बचाव करें
  7. शिशु को धूप से बचाने के लिए टोपी या हैट पहना सकते हैं
  8. Watch Video: गर्मियों में बच्चों को बिमारियों से कैसे बचाएं

बच्चों की धूप से कैसे रक्षा करें

बच्चों की धूप से कैसे रक्षा करें - How to protect your children from scorching hot sun?

अगर आप अपने बच्चे के साथ वेकेशन पर गए हैं,  तो आप को दिन की धूप में जाने से बचना चाहिये।  इस समय को आप छाये में बिताए। 

बच्चे को ठण्ड में रखे - How to keep your children cool in summer in Hindi?

तापमान बढ़ते ही गर्मी और थकावट चिंता का विषय बन जाता है। इससे बचने के लिए आप आप बच्चे के ऊपर पानी के छींटे बोतल या होस से करें, और उसको पंखा करें  और उसको ठंडे और छाये वाले जगह पर लिटा दे।

बच्चों को हाइड्रेट रखने के तरीके - Quick ways to keep your children well hydrated

अपने बच्चे को कहें कि जब भी उन्हें प्यास लगे तो पानी पीये ताकि उनके शरीर का तापमान सामान्य रहे। अधिक प्यास लगने पर ग्लूकोज़ पानी में मिला कर पिये। यह बच्चों के लिए एक महत्वपूर्ण सुरक्षा सुझाव है।

बच्चे को जब भी प्यास लगे तो पानी दीजिये

खानपान का रखें ध्यान - Take care of their food and diet

गर्मियों के दिनों में बच्चों की पाचन शक्ति अक्सर कमजोर हो जाती है इसलिए बच्चों को हल्का तथा पौष्टिक भोजन ही दीजिये। साथ ही ठंडे और गर्म दोनों चीजों का साथ सेवन ना करने दें।

  •  अपने बच्चे को हमेशा ताज़ा और साफ खाना खिलायें। यह गर्मी के महीनों में खास तौर पर महत्वपूर्ण है, क्योंकि गर्मी में पका हुआ भोजन बहुत जल्दी खराब हो जाता है, विशेषकर रखा हुआ खाना।
  •  मौसम के अनुकूल फलों का सेवन बच्चो को करायें। जैसे तरबूज़, लीची, आम, जामुन आदि।
  •  अपने बच्चे को कच्चे आम का रस ज़रूर पिलायें। यदि बच्चे को धूप लग जाती है तो कच्चे आम को उबाल कर उसका छिलका उतार कर ठंडे पानी में उसके गूदे को मिला कर, उसमें नमक, चीनी और भुना जीरा पीस कर मिलाकर अपने बच्चे को पिलायें।
  •  अगर आपके शिशु की उम्र छह महीने से कम है और आप उसे केवल स्तनपान करवा रही हैं, तो उसे अतिरिक्त पानी देने की जरूरत नहीं है। गर्म मौसम में, हो सकता है आपका शिशु थोड़ी-थोड़ी मात्रा में ज्यादा बार स्तनपान करना चाहे। आपके स्तन के दूध से उसे पर्याप्त तरल मिल जाएगा। इस तरह थोड़ी-थोड़ी मात्रा में दूध पीने से उसे अतिरिक्त अग्रदूध मिल भी मिल जाता है। 

  गर्मियों में यह सावधानी बरतें - Precautions that you should take

गर्मी के महीनों में, मालिश के तेल का कम इस्तेमाल करना बेहतर होता है। बहरहाल, अगर आप गर्मियों में भी बच्चे की मालिश करना चाहती हैं, तो ठंडक देने वाले तेल जैसे जैतून या नारियल के तेल को लगायें।

घमौरियों और सनबर्न से बचाव करें - Protect your children from sunburn and rashes in hindi

अत्यधिक गर्मी से त्वचा में दाने और रैशेस की समस्या आती है। इससे बचने के लिए आप बच्चों को डेटोल पानी में डालकर नहलायें तथा घमौरी नाशक कोई पाउडर लगाएं ताकि उन्हें इस तरह की कोई परेशानी ना हो।

शिशु को धूप से बचाने के लिए टोपी या हैट पहना सकते हैं। - Use large hats to protect your child from scorching sun

बच्चे को धूप से बचाने के लिए टोपी दें

धूप में बाहर जाते समय अपने बच्चे को आपकी डॉक्टर द्वारा बताया गया सनस्क्रीन अवश्य लगाएं। यह सनस्क्रीन सूरज की हानिकारक किरणों से शिशु की रक्षा करेगी।

गर्मियों का मतलब मलेरिया और डेंगू जैसे रोगों को फैलाने वाले मच्छरों का होना भी है। अपने बच्चे के लिए मच्छरदानी का प्रयोग करें।

कोई भी घरेलू उपचार इस्तेमाल करने के बारे में सावधानी बरतिए। इस समय उसकी प्रतिरक्षण प्रणाली ज्यादा मजबूत नहीं होती। अतः इस मौसम में आपको अपने बच्चे का खास ध्यान देना होगा जिससे बच्चा स्वस्थ रहे।  

Video: गर्मियों में बच्चों को बिमारियों से कैसे बचाएं - How to protect your child from diseases in hot summer climate?

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at mykidhealthcenter@gmail.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

बच्चे-को-दूध-से-एलर्जी
दस्त-में-शिशु-आहार
टीकाकरण-चार्ट-2018
बच्चों-मे-सीलिएक
बच्चों-में-स्किन-रैश-शीतपित्त
बच्चों-में-अण्डे-एलर्जी

Most Read

Other Articles

indexed_40.txt
Footer