Category: स्मार्ट एक्टिविटीज

बच्चे के मेमोरी को बूस्ट करने का बेस्ट तरीका

By: ZN | 1 min read

बच्चे के साथ अगर पेरेंट्स सख़्ती से पेश आते है तो बच्चे सारे काम सही करते हैं। ऐसे वो सुबह उठने के बाद दिनचर्या यानि पेशाब ,पॉटी ,ब्रश ,बाथ आदि सही समय पर ले कर नाश्ते के लिए रेड़ी हो जायेंगे। और खुद से शेक और नाश्ता तथा कपड़े भी सही रूप से पहन सकेंगे।

 

बच्चे को अक्सर अपने दोस्तों के नाम और इंजन के नाम याद रहता है। लेकिन जब वो घर में आते हैं तो उनको अपने शू और कपड़े कहाँ रखने है ये याद नहीं रहता है। ऐसे मे पेरेंट्स को बहुत सारा वर्क लोड हो जाता है कि बच्चे के शू को एवं कपड़ों को सही स्थान पर रखें। 


यहाँ हम आपको कुछ ऐसे टिप्स दे रहे रहें है जिससे बच्चे की वर्किंग मेमोरी को तेज़ कर सकें -

दिनचर्या की शुरुआत

बच्चे के साथ अगर पेरेंट्स सख़्ती से पेश आते है तो बच्चे सारे काम सही करते हैं। ऐसे वो सुबह उठने के बाद दिनचर्या यानि पेशाब ,पॉटी ,ब्रश ,बाथ आदि सही समय पर ले कर नाश्ते के लिए रेड़ी हो जायेंगे। और खुद से शेक और नाश्ता तथा कपड़े भी सही रूप से पहन सकेंगे।



For Readers: Diaper पे भारी छुट (Discount) का लाभ उठायें!
Know More>>
*Amazon पे हर दिन discount और offers बदलता है| जरुरी नहीं की यह DISCOUNT कल उपलब्ध रहे|


 

मेमोरी गेम

बच्चे के साथ बहुत सारे गेम खेलते हैं। लेकिन उनके साथ अगर मेमोरी तेज़ करने वाला खेल खेला जाये तो बेहतर होगा। इससे बच्चे को चीजों को पहचाने और याद करने में आसानी होगी। जैसे अगर आप बच्चे साथ कहीं बाहर पार्क या कहीं घूमने गए हो और दूसरे दिन उसी रास्ते से गुजर रहें हो तो बच्चे से उस स्थान का नाम या जो चीजें वहां से लिया हो उसके बारे में अपडेट जरूर लें ताकि बच्चे की मेमोरी को तेज़ करने में आसानी हो।

हेल्प visualize

बहुत लोगों की मेमोरी फ़ास्ट होती है जब वे बचपन में कुछ चीजों को देखे होते हैं। ऐसे में बच्चे को भी पेरेंट्स जरूर फ़ास्ट लर्निग बनाये जिससे उनको आगे सब याद रहे चाहे वो एक्वेरियम विजिट हो किसी हिस्टोरिकल प्लेस का। इससे बच्चे के मेमोरी को फ़ास्ट या याद रखने में आसानी होगी।

बच्चे से पूंछे और एक्सप्लेन करने को कहें

बच्चे को जिन चीजों के बारे में बतायें ,वापस कुछ देर बाद सारी चीजों के बारे में अवश्य पूंछे या अपडेट लें। इससे बच्चे के मेमोरी को स्ट्रांग करने में आसानी होगा।

रीडिंग

बच्चों को किताब पढ़ने और चित्रों को देखकर समझने के लिए पेरेंट्स खास कर ध्यान करें। जिससे बच्चे किताब में दिए गए वर्ड्स को अच्छे तरीके से पढ़ लिख सकें ,इससे बच्चे को पढ़ने और चीजों को समझने में आसानी होगी साथ -साथ मेमोरी भी स्ट्रांग होगा।

Most Read

Other Articles

Footer