Category: स्वस्थ शरीर

गर्मियों में बच्चों को डिहाइड्रेशन से बचाने के आसान तरीके

By: Vandana Srivastava | 7 min read

आपका बच्चा जितना तरल पदार्थ लेता हैं। उससे कही अधिक बच्चे के शरीर से पसीने, दस्त, उल्टी और मूत्र के जरिये पानी बाहर निकल जाता है। इसी स्तिथि को डिहाइड्रेशन कहते हैं। गर्मियों में बच्चे को डिहाइड्रेशन का शिकार होने से बचने के लिए, उसे थोड़े-थोड़े समय पर, पुरे दिन तरल पदार्थ या पानी देते रहना पड़ेगा।

how to prevent dehydration

प्रत्येक बच्चे के अंदर पानी की मात्रा 75-78%  होती हैं परन्तु प्रतियेक वर्ष गर्मियों के दिनों में पानी की यह मात्रा घट कर 65% तक रह जाती  है। ऐसा इसलिए क्यूंकि जब तक बच्चा माँ के दूध पर आश्रित रहता हैं उसके अंदर पानी की यह मात्रा विद्यमान रहती हैं। मगर बाद में जब ठोस आहार शुरू होता है तो पानी की मात्रा शरीर में कम हो जाती है। पानी का संतुलन बनाये रखने के लिए बच्चे को तरल पदार्थ या पानी की मात्रा अलग से देना पड़ता हैं। 

इस लेख में आप सीखेंगे - You will read in this article

  1. डिहाइड्रेशन क्या है?
  2. डिहाइड्रेशन कैलकुलेटर
  3. बच्चों में डिहाइड्रेशन की समस्या
  4. बच्चों में डिहाइड्रेशन के लक्षण
  5. बच्चों में डिहाइड्रेशन होने के कारण
  6. खेल-कूद करने वाले बच्चों को पानी की कितनी आवश्यकता है
  7. बच्चों को डिहाइड्रेशन से बचाने के उपाए
  8. ध्यान देने योग्य बातें
  9. Video: गर्मियों में डिहाइड्रेशन से कैसे बचे

 डिहाइड्रेशन क्या है? 

पानी का यह संतुलन अगर न बनाया जाये तो बच्चा अस्वस्थ हो जायेगा। इसी स्तिथि को डिहाइड्रेशन कहते हैं। गर्मियों में बच्चे को डिहाइड्रेशन का शिकार होने से बचने के लिए, उसे थोड़े-थोड़े समय पर, पुरे दिन तरल पदार्थ या पानी देते रहना पड़ेगा। 

डिहाइड्रेशन कैलकुलेटर - Dehydration Calculator (calculate water requirement in your body)


बच्चों में डिहाइड्रेशन की समस्या

 इस कारण से बच्चे के शरीर में जितने तरल पदार्थ की आवश्यकता होती है,  उतना वह स्थिर नहीं रह पाता। इसी स्थिति को डिहाइड्रेशन अथवा निर्जलीकरण कहते हैं। डिहाइड्रेशन की वजह से शरीर की पाचन- क्रिया सही तरह से काम नहीं कर पाती,  जिसकी वजह से बच्चे को लगातार उल्टी और दस्त होना शुरु हो जाता है। लगातार उल्टी और दस्त की वजह से बच्चा कमजोर हो जाता हैं और बार- बार पानी पीने को मांगता हैं क्योकिं अंदर से बच्चे का गला सूखता रहता हैं। शरीर में पानी की कमी होने पर प्यास अधिक लगती हैं परन्तु बार- बार पानी पीने पर बच्चा उससे पचा नहीं पता हैं।

symptoms of dehydration

बच्चों में डिहाइड्रेशन के लक्षण 

  • अत्यधिक प्यास लगना।
  • मुँह सूख जाना।
  • कम और रुक-रुक कर पीले रंग का पेशाब आना।
  • थकान होना।
  • अत्यधिक नींद आना।
  • आँखों से पानी निकलना या आंखें निस्तेज हो जाना।
  • सिर में दर्द होना।
  • त्वचा में रूखापन और खिंचाव होना।
  • आलस्य महसूस करना।
  • कमजोरी की वजह से बीपी लो हो जाना और चक्कर आना।
  • नाड़ी की गति तेज होना।
  • बुखार हो जाना।
  • कुछ भी ना पचना।
  • लगातार उलटी - दस्त होना।

signs of dehydration

बच्चों में डिहाइड्रेशन होने के कारण

  • बच्चे के शरीर के लिए जरुरत के अनुसार तरल पदार्थो और खाद्य पदार्थ का ना होना।
  • धूप लग जाना।
  • अत्यधिक पसीना निकलने के कारण।
  • अत्यधिक गरम वातावरण में रहने के कारण।
  • उल्टी और दस्त होने के कारण।
  • अत्यधिक पेशाब होने की वजह से।
  • पानी के संक्रमण की वजह से। 
  • त्वचा हुए किसी संक्रमण की वजह से।
  • बहुत समय तक बिना पानी पिए हुए रहने से।
  • धूप में बहुत देर तक खेलते रहने की वजह से।
  • पोटैशियम और सोडियम जैसे तत्वों की कमी होने की वजह से।

खेल-कूद करने वाले बच्चों को पानी की कितनी आवश्यकता है

how much water a child should drink after playing a sport

बच्चों को डिहाइड्रेशन से बचाने के उपाए 

  • अपने बच्चे को डिहाइड्रेशन से बचाने का सबसे आसान तरीका यह हैं की उसे खूब सारा पानी पिलाए। पूरे दिन भर में थोड़ा रुक -रुक कर पानी पिलाए।
  • पानी में इलेक्ट्रॉल पाउडर मिलकर थोड़ी- थोड़ी देर पिलाए।
  • अधिक कमजोरी महसूस होने पर पानी में नीबू,  नमक और चीनी मिलाकर अपने बच्चे को पिलाए।
  • मुंग की दाल की पतली खिचड़ी बनाकर खिलाये।
  • साबूदाने का पानी या उसकी खिचड़ी बनाकर अपने बच्चे को खिलाये।
  • हरी मिर्च के बीज़पानी में मिलाकर या खिचड़ी में मिलाकर बच्चे को दें।हरी मिर्च उलटी रोकने का एक कारगर तरीका हैं।
  • बच्चे को सब्जियों का सूप बनाकर पिलाएं।
  • दूध का प्रयोग कम मात्रा में करें।
  •  बच्चे को खीरा , ककड़ी,  तरबूज़ आदि का सेवन करवाएं।
  • हरी सब्जियों का प्रयोग अधिक मात्रा में करें जिससे आपके बच्चे के शरीर को पोषण मिलेगा और डीहाइड्रेशन जैसी समस्या से भी छुटकारा मिलेगा।
  • गर्मी शुरू होते ही अपने बच्चे को रोज़ ताज़ी दही खिलाये इससे पाचन- तंत्र भी ठीक रहेगा और डिहाइड्रेशन जैसी समस्या से भी निजात मिलेगी।
  • दही का छाछ और मठा भी बच्चे को पिला सकती हैं।
  • पुदीने का रस भी बच्चे को पिला सकती हैं।
  • आम को उबाल कर उसका शरबत पिलाने से भी आराम मिलता हैं।आम के शरबत में जिंक और विटामिन भरपूर मात्रा में होता हैं। यह इलेक्ट्रोलाइट्स और जल की मात्रा को नियंत्रित रखता है जिससे डिहाइड्रेशन की समस्या से छुटकारा मिलता हैं।
  • उबले आम के गूदे को बच्चे के हाथ- पैर के तलवे में लगाने से , धूप लगी हो तो उसमें आराम मिलता हैं।
  • गर्मी की वजह से बुखार आने पर बच्चे के माथे पर भी उबले आम का गूदा लगाया जा सकता हैं।

affects of dehydration

ध्यान देने योग्य बातें

  1. डीहाइड्रेशन से अपने बच्चे को बचाने के लिए रोजाना गन्ने के जूस में पुदीना मिलाकर पिलाएं।
  2. नारियल का पानी पिलाना डिहाइड्रेशन से बच्चे को बचाने का अच्छा विकल्प हैं।
  3. उलटी और दस्त अधिक होने पर बच्चे को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।उसके इलाज़ में बिलकुल भी लापरवाही ना बरते। डॉक्टर यदि ड्रिप चढ़ाने को कहे तो उसमें देर ना करें।

Video: गर्मियों में डिहाइड्रेशन से कैसे बचे - How to prevent dehydration in hot scorching summer?

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at mykidhealthcenter@gmail.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

अपने-बच्चे-को-कैसे-बुद्धिमान-बनायें
बच्चे-की-भूख-बढ़ाने-के-घरेलू-नुस्खे
एक-साल-तक-के-शिशु-को-क्या-खिलाए
शिशु-को-सुलाने-
रोते-बच्चों-को-शांत-करने-के-उपाए
दूध-पिने-के-बाद-बच्चा-उलटी-कर-देता-है----क्या-करें
गर्मियों-में-अपने-शिशु-को-ठंडा-व-आरामदायक-कैसे-रखें
सूजी-का-खीर
नाख़ून-कुतरने
सतरंगी-सब्जियों-के-गुण
दिमागी-बुखार---जापानीज-इन्सेफेलाइटिस
गर्मियों-में-नवजात
BCG-वैक्सीन
पोलियो-वैक्सीन
हेमोफिलस-इन्फ्लुएंजा-बी-(HIB)-
रोटावायरस
न्यूमोकोकल-कन्जुगेटेड-वैक्सीन
इन्फ्लुएंजा-वैक्सीन
खसरे-का-टीका-(वैक्सीन)
हेपेटाइटिस-A-वैक्सीन
एम-एम-आर
मेनिंगोकोकल-वैक्सीन
टी-डी-वैक्सीन
उलटी-और-दस्त
कुपोषण-का-खतरा
पढ़ाई
नमक-चीनी
बच्चों-को-दे-Sex-Education
बच्चों-की-पढाई
बच्चों-की-गलती

Most Read

एंटी-रेबीज-वैक्सीन
चिकन-पाक्स-का-टिका
टाइफाइड-वैक्सीन
शिशु-का-वजन-बढ़ाने-का-आहार
दिमागी-बुखार
येलो-फीवर-yellow-fever
हेपेटाइटिस-बी
हैजा-का-टीकाकरण---Cholera-Vaccination
बच्चों-का-मालिश
गर्मियों-से-बचें
बच्चों-का-मालिश
बच्चों-की-लम्बाई
उल्टी-में-देखभाल
शहद-के-फायदे
बच्चो-में-कुपोषण
हाइपोथर्मिया-hypothermia
ठोस-आहार
बच्चे-क्यों-रोते
टीके-की-बूस्टर-खुराक
टीकाकरण-का-महत्व
बिस्तर-पर-पेशाब-करना
अंगूठा-चूसना-
नकसीर-फूटना
बच्चों-में-अच्छी-आदतें
बच्चों-में-पेट-दर्द
बच्चों-के-ड्राई-फ्रूट्स
ड्राई-फ्रूट-चिक्की
विटामिन-C
दाँतों-की-सुरक्षा
6-से-12-वर्ष-के-शिशु-को-क्या-खिलाएं
बच्चों-को-गोरा-करने-का-तरीका-
गोरा-बच्चा
शिशु-diet-chart
खिचड़ी-की-recipe
पांच-दलों-से-बनी-खिचडी
पौष्टिक-दाल-और-सब्जी-वाली-बच्चों-की-खिचड़ी
बेबी-फ़ूड
बेबी-फ़ूड
शिशु-आहार
सब्जियों-की-प्यूरी
भोजन-तलिका
सेरेलक
चावल-का-पानी
सेब-बेबी-फ़ूड
बच्चों-के-लिए-खीर
सेब-पुडिंग
बच्चों-का-डाइट-प्लान
baby-food
बच्चों-में-भूख-बढ़ने
फूड-प्वाइजनिंग

Other Articles

indexed_80.txt
Footer