Category: टीकाकरण (vaccination)

बच्चे और एंटी रेबीज वैक्सीन - कारण व बचाव

By: Vandana Srivastava | 7 min read

अगर बच्चे को किसी कुत्ते ने काट लिया है तो 72 घंटे के अंतराल में एंटी रेबीज वैक्सीन का इंजेक्शन अवश्य ही लगवा लेना चाहिए। डॉक्टरों के कथनानुसार यदि 72 घंटे के अंदर में मरीज इंजेक्शन नहीं लगवाता है तो, वह रेबीज रोग की चपेट में आ सकता है।

rabies vaccine

अगर बच्चे को किसी कुत्ते ने काट लिया है तो 72 घंटे के अंतराल में एंटी रेबीज वैक्सीन का इंजेक्शन अवश्य ही लगवा लेना चाहिए।

इस लेख में आप सीखेंगे - You will read in this article

  1. जानलेवा वायरस और बैक्टीरिया से संक्रमण
  2. एंटी रेबीज वैक्सीन का इंजेक्शन
  3. पालतू जानवरों को एंटी रबिसे का वैक्सिनेशन
  4. रेबीज होने के कारण व बचाव
  5. एंटी रेबीज वैक्सीन - सावधानियां और प्रयोग विधि
  6. रेबीज रोग का उपचार
  7. एंटी रेबीज वैक्सीन का अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन
  8. निम्नलिखित दवाओं के साथ एंटी रेबीज वैक्सीन का रिएक्शन
  9. जब एंटी रेबीज वैक्सीन आपको निषेध हो
  10. एंटी रेबीज वैक्सीन से होने वाले दुष्प्रभाव
  11. एंटी रेबीज वैक्सीन से सम्बंधित जानकारियां
  12. खुराक छूटना
  13. एंटी रेबीज वैक्सीन की अधिक मात्रा
  14. एंटी रेबीज वैक्सीन का संग्रह
  15. Video: रेबीज इन्फेक्शन से बचाव

जानलेवा वायरस और बैक्टीरिया से संक्रमण - Viral and bacterial infection through animal bite

इस संसार मैं हम मनुष्य अकेले नहीं हैं हमारे साथ पशु भी रहते हैं। कभी कभार जब इन्हे हम मनुष्यों से खतरा महसूस होता है तो यह अपने बचाव में हम पर आक्रमण कर देते हैं। 

या फिर जब ये मानसिक रूप से बीमार होते हैं तो भी हम पर आक्रमण कर सकते हैं। इनके आक्रमण करने पर बड़े और बुजुर्ग तो अपना बचाव कर लेते हैं, लकिन छोटे बच्चों को नहीं पता होता की उनके किन कामों से पशु आक्रमण कर सकते हैं। 

कई बार तो बच्चे पशु के पास खेलने तक चले जाते हैं। ऐसे मैं अगर वे पशु पक्षियां पालतू नहीं हुए तो वे खतरा भांप कर बच्चों को चोट भी पहुंचा सकते हैं। 

victim are children

पशु के काटने पर हमे विशेष धयान देने की आवश्यकता है क्यूंकि वे गन्दगी में रहते हैं और विभिन प्रकार के संक्रमण के शिकार भी होते हैं। इनके काटने पे बच्चों का शरीर कई प्रकार के जानलेवा वायरस और बैक्टीरिया से संक्रमति हो जाता है। ऐसी स्थिति में बच्चे के बचाव के लिए उसको कुछ दावा और वैक्सीन देना पड़ता हैं।

rabies stats

एंटी रेबीज वैक्सीन का इंजेक्शन - Injection for anti rabies

कुत्ता चाहे पालतू हो या फिर जंगली, अगर काट ले तो 72 घंटे के अंदर एंटी रेबीज वैक्सीन का इंजेक्शन अवश्य ही लगवा लेना चाहिए, नहीं तो डॉक्टरों के कथनानुसार यदि 72 घंटे के अंदर में मरीज इंजेक्शन नहीं लगवाता है तो, वह रेबीज रोग की चपेट में आ सकता है। 

ऐसा होने के बाद रेबीज का कोई भी इलाज उपलब्ध नहीं हैं। साथ जंगली जानवर के काटे जाने के बाद मरीज को चाहिए कि अगर घाव अधिक गहरा नहीं हो, तो उसको साबुन से कम से कम पंद्रह मिनट तक अवश्य धोएं।इसके बाद बीटाडीन से उसकी ठीक तरह से सफाई करे व घाव को कभी भी ढके नहीं। 

अगर घाव अधिक गहरा हो तो तुरंत ही चिकित्सक की सलाह ले और उसकी साफ - सफाई का धयान दे।

rabies stats2

पालतू जानवरों को एंटी रबिसे का वैक्सिनेशन - Have you got your pet vaccinated for rabies?

घरों में पले हुए कुत्तों को एंटी रेबीज का टीका अवश्य ही लगवाया जाए। अगर किसी घाव पर गलती से कुत्ते की लार गिर जाती है तो उससे भी रेबीज हो जाता है।यदि एक बार मरीज रेबीज की चपेट में आ गया तो उसका कोई ईलाज नहीं हैं। हालांकि उपचार के माध्यम से मरीज को कुछ राहत प्रदान कि जा सकती है। रेबीज रोग 19 वर्षो तक रोगी को अपनी गिरफ्त ले सकता है। अगर आप के घर में छोटे बच्चे हैं तब तो नितांत आवश्यक हो जाता है की आप अपने पालतू जानवरों को एंटी रेबीज़ का इंजेक्शन लगवाएं। 

domestic animals and rabies

रेबीज होने के कारण व बचाव - How to prevent rabies?

कुछ  जानवर जैसे कुत्ता, बंदर, सुअर, चमगादड़ आदि के काटने से जो लार व्यक्ति के खून में मिल जाती है, उससे रेबीज नामक बीमारी होने का खतरा रहता है। रेबीज रोग सीधे रोगी के मानसिक संतुलन को खराब कर देता है। जिससे रोगी का अपने दिमाग पर कोई संतुलन नहीं होता है, किसी भी चीज को देख कर भड़क सकता है।

rabies prevention

एंटी रेबीज वैक्सीन - सावधानियां और प्रयोग विधि - Anti rabies vaccine - use and precautions

इस दवा का प्रयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर को अपनी वर्तमान दवाओं,एलर्जी, पहले से मौजूद बीमारियों, और वर्तमान स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में जानकारी प्रदान करें। कुछ स्वास्थ्य परिस्थितियां आपको दवा के दुष्प्रभावों के प्रति ज्यादा संवेदनशील बना सकती हैं। अपने डॉक्टर के निर्देशों के अनुसार दवा का सेवन करें या उत्पाद पर प्रिंट किये गए निर्देशों का पालन करें। खुराक आपकी स्थिति पर आधारित होती है। यदि आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं होता है या यदि आपकी हालत ज्यादा खराब हो जाती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।

रेबीज रोग का उपचार - Rabies treatment options

कुत्ते के काटने पर उपचार मे तीन या पांच इंजेक्शन लगाए जाते है। उपचार मे एंटी रेबीज वैक्सीन एंटी रेबीज वैक्सीन व एंटी रेबीज सीरम दिया जाता है। डॉक्टर घाव की ग्रेडिंग करने के बाद मरीज का डोज तीन या पांच इंजेक्शन तय करता है और इस आधार पर इस रोग का उपचार किया जाता है। लेकिन वैज्ञानिक तौर पर इस रोग का ठोस उपचार नहीं है बस वायरस के असर को कम करने के लिए कुछ वैक्सीनेशन बने हुए है

rabies treatment in children

एंटी रेबीज वैक्सीन का अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन  - Anti rabies vaccine and its reaction with other medicines

यदि आप एक ही समय पर अन्य दवाओं या उत्पादों का सेवन करते हैं तो एंटी रेबीज वैक्सीन  का प्रभाव परिवर्तित हो सकता है। यह दुष्प्रभावों के प्रति आपके बच्चो के प्रति खतरे को बढ़ा सकता है या इसकी वजह से शायद आपकी दवा अच्छी तरह से काम ना करे। उन सभी दवाओं, विटामिनों और हर्बल सप्लीमेंट के बारे में अपने डॉक्टर को बताएं जिनका आप प्रयोग कर रहे हैं, ताकि आपके डॉक्टर दवा के परस्पर प्रभावों से बचने में आपकी सहायता कर सकें। 

निम्नलिखित दवाओं के साथ एंटी रेबीज वैक्सीन का रिएक्शन  - Anti rabies vaccine reacts with following medicines

  1. हेपरिन
  2. हाई  ब्लड  प्रेशर  मेडिसिन्स
  3. वार्फरिन

जब एंटी रेबीज वैक्सीन आपको निषेध हो  - Conditions when you should not take anti rabies vaccine 

यदि आप एंटी रेबीज वैक्सीन  के प्रति सेंसटिव हैं तो एंटी रेबीज वैक्सीन आप के लिए निषेध हो सकता हैं। इसके अतिरिक्त, यदि आपको निम्नलिखित समस्याएं हैं तो एंटी रेबीज वैक्सीन नहीं लिया जाना चाहिए।

  1. अंडे और अंडे उत्पादों से एलर्जी
  2. सेंसटिव
  3. एचआईवी / एड्स
  4. कैंसर
  5. बुखार
  6. रोग प्रतिरोधक  प्रणाली को प्रभावित करता है

एंटी रेबीज वैक्सीन से होने वाले दुष्प्रभाव - Side affects of anti rabies vaccine 

निम्नलिखित उन संभावित दुष्प्रभावों की सूची है जो उन दवाओ से हो सकते हैं जिनमें एंटी रेबीज वैक्सीन शामिल होता है। ये दुष्प्रभाव संभव हैं, लेकिन हमेशा नहीं होते हैं। कुछ दुष्प्रभाव असामान्य  और गंभीर हो सकते हैं। यदि आपको निम्नलिखित में से किसी भी दुष्प्रभाव का पता चलता है, और यदि ये कम नहीं होते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

  1. दर्द होना
  2. लाल हो जाना
  3. सूजन होना
  4. सूजन ग्रंथियां
  5. जोड़ों का दर्द

यदि आपको किसी ऐसे दुष्प्रभाव का पता चलता है जो ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है तो के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। आप अपने स्थानीय खाद्य और दवा प्रबंधन अधिकारी को भी दुष्प्रभावों की सूचना दे सकते हैं।

एंटी रेबीज वैक्सीन से सम्बंधित जानकारियां - Information related to anti rabies vaccine 

खुराक छूटना - Dosage reduction

यदि आपकी कोई खुराक छूट जाती है तो याद आने पर जल्दी से जल्दी खुराक का सेवन करें। यदि आपकी अगली खुराक का समय निकट है तो छूटी हुई खुराक छोड़ दें और अपने खुराक का शिड्यूल दोबारा शुरू करें। छूटी हुई खुराक को पूरा करने के लिए अतिरिक्त दवा का सेवन ना करें। यदि आप नियमित रूप से अपनी खुराक लेना भूल जा रहे हैं तो अलार्म लगाएं या अपने परिवार के किसी सदस्य को याद दिलाने के लिए कहें। यदि हाल में आपने कई खुराकें छोड़ दी हैं तो छूटी हुई दवाओं की भरपाई के लिए समय में परिवर्तन और नए समय के बारे में चर्चा करने के लिए कृपया अपने डॉक्टर  से परामर्श लें।

एंटी रेबीज वैक्सीन की अधिक मात्रा - Excess of anti rabies vaccine 

बताई गई  खुराक से ज्यादा का सेवन ना करें। ज्यादा दवा के इस्तेमाल से आपके लक्षणों में सुधार नहीं होगा, बल्कि इससे नुकसान या गंभीर प्रभाव हो सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपने या किसी और ने एंटी रेबीज वैक्सीन  की ज्यादा खुराक ले ली है तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल या नर्सिंग होम के इमरजेंसी विभाग में जाएँ। आवश्यक जानकारी पाने में डॉक्टर की सहायता करने के लिए अपने साथ मेडिसिन बॉक्स, कंटेनर या लेबल ले जाएँ।

यदि आपको पता है कि किसी व्यक्ति की स्थिति आपके समान है या यदि ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी बीमारी आपके जैसी है तो भी कभी अपनी दवाएं दूसरे लोगों को ना दें। इसकी वजह से दवा की अधिमात्रा हो सकती है।

ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या  मेडिसिन सेलर या प्रोडक्ट पैकेज से सलाह लें।

एंटी रेबीज वैक्सीन का संग्रह - Storage of anti rabies vaccine 

दवाओं को कमरे के सामान्य तापमान पर रखें। दवाओं को फ्रीज़ में ना रखें जब तक कि अंदर दिए गए पैकेज के अनुसार या बताया नही गया हैं। दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।

दवाओं को टॉयलेट में ना बहाएं जब तक कि ऐसा करने के लिए बताया  नहीं गया  है। इस प्रकार से फेंकी गयी दवाएं एन्वॉयरमेंट को नुकसान पहुंचा सकती हैं। एंटी रेबीज वैक्सीन को सुरक्षित रूप से समाप्त करने के बारे में और अधिक जानकारी पाने के लिए अपने मेडिसिन सेलर  या डॉक्टर  से सलाह  लें।

एक्स्पायर्ड एंटी रेबीज वैक्सीन  का प्रयोग न करे।

Video: रेबीज इन्फेक्शन से बचाव - Rabies infection and prevention

Comments and Questions

You may ask your questions here. We will make best effort to provide most accurate answer. Rather than replying to individual questions, we will update the article to include your answer. When we do so, we will update you through email.

Unfortunately, due to the volume of comments received we cannot guarantee that we will be able to give you a timely response. When posting a question, please be very clear and concise. We thank you for your understanding!



प्रातिक्रिया दे (Leave your comment)

आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं

टिप्पणी (Comments)



आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा|



Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_40.txt
Footer